भाग्य लक्ष्मी योजना | उत्तर प्रदेश के बेटियों को मिलेगा 2 लाख + 50 हजार {mahilakalyan.up.nic.in} - JobKiya
Sarkari Yojna

भाग्य लक्ष्मी योजना | उत्तर प्रदेश के बेटियों को मिलेगा 2 लाख + 50 हजार {mahilakalyan.up.nic.in}

Written by Vikash Raj

उत्तर प्रदेश भाग्य लक्ष्मी योजना 2020:- तो आज के इस आर्टिकल में आप सभी को भाग्यलक्ष्मी योजना २०२० के बारे में बारे में जानकारी दी जा रही है. बता दें की आज के समय में प्रदेश सरकार द्वारा लड़कियों की भविष्य को उज्जवल बनाने के लिए बहुत सी योजनाओं को शुरुआत की है, जिसमे से एक भाग्यलक्ष्मी योजना भी शामिल हैं. इस भाग्यलक्ष्मी योजना के तहत देश के लड़कियों को आर्थिक सहायता के लिए अच्छी खासी राशी प्रदान की जाएगी. और इस योजना के शुरू होने से देश में गर्भपात की समस्या भी बहुत हद तक कम हो सकती है. यदि आप भी जानना चाहते हैं की भाग्यलक्ष्मी योजना क्या है, या इसका लाभ कैसे प्राप्त कर सकते हैं तो इस पोस्ट को ध्यान्पुर्वक अंत तक तक पढ़ें.

आपको सबसे पहले बता दें की यह भाग्य लक्ष्मी योजना उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ जी के द्वारा शुरू की गयी है, इस योजना के तहत यूपी के सभी लड़कियों को वित्तीय सहायता प्रदान की जाएगी. और इस योजना का उद्देश्य प्रदेश में कम होते हुए लिंग अनुपात और बड़ती हुई भ्रूण हत्या को कम करना है.

आपको पता है की देश में बहुत से ऐसे लोग हैं जो आर्थिक रूप से कमजोर या पैसों की तंगी की बजह से लड़कियों को पैदा नहीं करते हैं, या फिर उसकी हत्या लोग गर्भ में ही कर देते हैं. जिसके कारन आज के समय में लड़को की तुलना में लड़कियों की संख्या कम होती जा रही है. यही बजह है की लड़कियों की कमी को दूर करने के लिए प्रदेश सरकार ने भाग्य लक्ष्मी योजना की शुरुआत की है, जिसका लाभ लड़कियों की काफी हद तक मिलने बाला है. तो आपको इसकी सम्पूर्ण जानकारी के लिए इस पोस्ट को निचे तक पढ़ना आवश्यक है.

भाग्य लक्ष्मी योजना क्या है, What is Bhagya Lakshmi Scheme?

भाग्य लक्ष्मी योजना एक ऐसी योजना है जिसके अंतर्गत प्रदेश के किसी भी महिला को अगर बेटी जन्म लेती हैं उन्हें रु० 50,000 रुपये की राशी सरकार की तरफ से प्रदान किया जायेगा, जिसका लाभ बहुत जल्द इन महिलाओं तक पहुचाई जाएगी. जबकि इस योजना के तहत लड़की को जन्म लेने के समय रु० 5100 रुपये की राशी प्रदान कराई जाएगी, जिसके लिए लाभार्थी को लड़की की जन्म होने के लिए एक वर्ष के अन्दर भाग्य लक्ष्मी योजना के लिए पंजीकृत करबाना होगा.

बताते चलें की इस सरकार द्वारा दिए जाने बाली इस भाग्यलक्ष्मी योजना के लाभ का मुख्य उद्देश्य लड़कियों की संख्या में वृद्धि करना और उनको पढ़ा लिखाकर उनके भविष्य को उज्जवल बनाना है. और साथ ही इस योजना का लाभ लेनें के बाद लोग पैसे की अभाब में आकर लड़कियों की शादी जल्द नहीं करेंगे और न ही उनकी गर्भपात कर पाएंगे.

नोट:- भाग्यलक्ष्मी योजना के तहत राज्य के हर लड़की की जन्म होने पर रु० 50,000 रुपये की राशी दी जाती है, और जब बालिका का उम्र 21 वर्ष पूरा होता है तो उन्हें रु० 2,00,000 रुपये की सहायता राशी प्रदान कराई जाती है.

उत्तर प्रदेश भाग्य लक्ष्मी योजना २०२० – मुख्य तथ्य

योजना का नामउत्तर प्रदेश भाग्य लक्ष्मी योजना
आरम्भ किया गयामुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ जी के द्वारा
विभागमहिला एवं बाल विकास विभाग
लाभार्थीराज्य की लड़किया
उद्देश्यलड़कियों को आर्थिक सहायता प्रदान करना
आवेदन प्रक्रियाऑनलाइन
श्रेणी राज्य सरकार की योजनाएँ
ऑफिसियल वेबसाइटhttp://mahilakalyan.up.nic.in/

उत्तर प्रदेश भाग्य लक्ष्मी योजना के लाभ

  • भाग्यलक्ष्मी योजना का लाभ गरीब परिवारों को प्रदान किया जायेगा.
  • इस योजना से लड़को और लड़कियों की लिंग अनुपात कम होगा.
  • और राज्य के बालिकाओं की शिक्षा काफी ऊपर बढ़ जायेगा.
  • बाल श्रम की समस्या लड़कियों के लिए काफी कम हो जाएगी.
  • भाग्यलक्ष्मी योजना से लड़कियों का विवाह करने में कोई परेशानी नहीं होगी.
  • और जब बालिका पढाई के लिए कक्षा 6 में पहुचती है तो 3,000 रुपये, 8 वीं कक्षा में 5,000 रुपये, 10 वीं कक्षा में 7,000 रुपये और जब 12 वीं कक्षा में पहुँचती है तो रु० 8,000 रुपये की राशी सरकार की तरफ से दी जाएगी.
  • और बलिका को 21 वर्ष पुरे होने पर 2 लाख रुपये प्रदान की जाएगी.

भाग्य लक्ष्मी योजना के लिए पात्रता

  • सबसे पहले तो एक उत्तर प्रदेश का स्थाई निवासी होना अनिवार्य है.
  • परिवार में बालिका का जन्म लेना आवश्यक है.
  • इस योजना का लाभ लेने के लिए परिवार में किसी व्यक्ति का सरकारी नौकरी नहीं होनी चाहिए.
  • और पुरे परिवार का आय दो लाख से अधिक नहीं होनी चाहिए.
  • आवेदक परिवार की लड़कियों क जन्म वर्ष 2006 के बाद हुआ हो.
  • योजना का लाभ लेने के लिए लाभार्थी को लड़की का जन्म प्रमाण पत्र दिखाना होगा.

आवश्यक दस्ताबेज

  • माता-पिता का आधार कार्ड
  • मोबाइल नंबर
  • बैंक खाता पासबुक
  • आवास प्रामाण पत्र
  • आय प्रमाण पत्र
  • जाति प्रमाण पत्र
  • बालिका का जन्म प्रमाण पत्र
  • पासपोर्ट साइज फोटो

भाग्य लक्ष्मी योजना के लिए शर्तें

  • आवेदक को लड़की की पढाई के लिए एडमिशन सरकारी स्कूल में करना होगा.
  • लड़की बाल श्रम करते नहीं पाया जाना चाहिए.
  • और लड़की की शादी 18 वर्ष के बाद नहीं होनी चाहिए.
  • जबकि इस योजना का लाभ लेने के लिए लड़की का जीवन विमा होना आवश्यक है.

भाग्य लक्ष्मी योजना के लिए महत्वपूर्ण बिंदु

  • भाग्यलक्ष्मी योजना के तहत दिए जाने बाली 50,000 हजार रुपये की राशी लड़की की बैंक अकाउंट में जमा की जाएगी.
  • लड़की का आधार कार्ड होना अनिवार्य है.
  • साथ ही लड़की का जन्म जिस अस्पताल में हुआ हो उका जन्म प्रमाण पत्र होना चाहिए.
  • और इस योजना के लिए राशन कार्ड भी होना चाहिए.

भाग्य लक्ष्मी योजना के लिए आवेदन कैसे करें.

उत्तर प्रदेश के जो भी अभिभावक भाग्य लक्ष्मी योजना का लाभ उठाने के लिए इच्छुक हैं तो निचे बताये गये तरीके का उपयोग करके आवेदन कर सकते हैं.

  • सबसे पहले निचे दिए गये लिंक से इसके ऑफिसियल वेबसाइट पर जाएँ.
  • इसके मुख्य पेज से आप भाग्य लक्ष्मी आवेदन फॉर्म के लिंक पर क्लिक करें.
  • क्लिक करने के बाद आवेदन पत्र ओपन हो जायेगा.
  • इसका एक प्रिंट आउट निकाल लें.
  • अब आवेदन पत्र में पूछी गयी सारी जानकारी को सही सही भरें.
  • फॉर्म भरने के बाद आप सभी आवश्यक दस्ताबेज को अटैच करें.
  • इसके बाद आप अपने जिला कल्याण विभाग में या आंगनबाड़ी के कार्यकर्ताओं के पास जमा कर दें.
  • एप्लीकेशन फॉर्म स्वीकार करने के बाद राशी आपके बैंक खाते में भेज दिया जायेगा.

अधिकारिक वेबसाइट:-  http://mahilakalyan.up.nic.in/

यदि आपको इतनी जानकारी के बाबजूद भी भाग्य लक्ष्मी योजना से सम्बंधित और कोई जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं तो निचे कमेंट बॉक्स के जरिये पूछ सकते हैं.

About the author

Vikash Raj

Leave a Comment